#computer Tricks - Android trick

Android trick

Android tech tips tricks Hindi

Breaking

Sunday, 21 January 2018

#computer Tricks





 विंडोस एक्सपी में हिंदी में टाइप करने के लिए

start->all programs->Accessories->Accesibility->on screen keyboard->settings->font >kundli


*विंडोस को मिनिमाज करने के लिए
सभी खुली हुई विंडोस को मिनिमाज करने के लिए - window+m या window+d

*सीडी /डीवीडी पर डाटा राईट करना ko
सीडी /डीवीडी ड्राईव पर राईट क्लिक करें ->Properties ->Recording->Enable CD Recording on this drive ->Apply ->My Computer में उन फाईलों & फोल्डर्स को सेलेक्ट करो जिन्हें राईट करना है फिर उन्हें कॉपी करके सीडी /डीवीडी ड्राईव में पेस्ट करें फिर साइड पेनल के आप्शन Write these files on CD पर क्लिक करें


कमांड प्रोम्प्ट से वेब साईट खोलना
start->Run->cmd टाईप करके इंटर दबाए -> c:\> प्रोम्प्ट के आगे start www.hindivishwa.org टाईप करके इंटर दबाए


रिसाईकिल बिन के डिलीट
कंफरमेशन डायलोग को बंद करना-रिसाईकिल बिन आईकोन पे राईट क्लिक करें ->Properties पे क्लिक करें ->Global टैब पर क्लिक करें -> Display delete confirmation dialog को अनचेक्ड करें -> Apply
Please Do Not Touch Steave's Pet Aligator = Physical Layer ; Data Link Layer ; Network layer ; Transport layer ;Session Layer ; Presentation Layer ; Application Layer

डाटा टाइप
dol fi cs bb = double , long - 64 ; float , integer - 32 ; char , short - 16 , boolean , byte - 8



दो कम्प्यूटरों को कनेक्ट करना
RJ-45(Register Jack-45) कनेक्टर्स जो क्रास वायर के दोनों सिरों पर लगें है का एक सिरा एक कम्प्युटर के नेटवर्क इंटरफेस कार्ड के LAN Port में और दूसरा दूसरे कम्प्युटर के नेटवर्क इंटरफेस कार्ड के LAN Port में लगा दें।
आईपी सेटिंग्स के लिए :
Start -> Settings -> Network Connections->Local Area Connection पे राइट क्लिक करें-> Properties->Internet Protocol (TCP/IP) सलेक्ट करें-> Properties बटन पे क्लिक करें। दोंनों कंप्यूटरों में Use the Following IP Address को चुनें और हर कंप्यूटर का यूनीक आईपी एड्रेस डालें।एक कंप्यूटर का आईपी एड्रेस 192.168.1.1 रखें और दूसरे का 192.168.1.2 ->Subnet Mask बॉक्स में 255.255.255.0 डालकर ओके बटन दबा दें।यह प्रक्रिया दोनों कंप्यूटरों में करें।



वर्कग्रुप ऐसे बनाएं
सबसे पहले Start ->Control Panel->System पर जाएं -> Computer Name tab पर जाएं और Change बटन पर क्लिक करें। Computer Name Changes डायलॉग बॉक्स में अपने कंप्यूटर का नाम डालें। यह प्रक्रिया दूसरे कंप्यूटर में भी दोहराएं और उसे एक दूसरा नाम दें।कंप्यूटरों को जोड़ने वाले वर्कग्रुप (नेटवर्क) का भी एक नाम होना चाहिए।कंप्यूटर का नाम देने के बाद उसके नीचे ही Member of Workgroup नामक बॉक्स में अपने वर्कग्रुप का नाम भर दीजिए (जैसे me Network)। यह प्रक्रिया दोनों कंप्यूटरों में पूरी करें। याद रहे, दोनों कंप्यूटरों के वर्कग्रुप का नाम एक समान होना चाहिए। ओके बटन दबा दें और दोनों कंप्यूटर एक बार रिस्टार्ट होंगे। रिस्टार्ट होते ही आपका नेटवर्क तैयार होगा।



फोल्डर शेयरिंग
दोनों कंप्यूटरों में एक-एक फोल्डर बना लीजिए, इसे कोई नाम दीजिए।इस फोल्डर पर राइट क्लिक करें Properties पर क्लिक करें। अब Sharing tab को सलेक्ट कर लें। अब Share this folder को सलेक्ट करें और फिर SharedFolder जैसा कोई नाम दीजिए। दूसरे कंप्यूटर में आपको अपना शेयर्ड फोल्डर इसी नाम से दिखाई देगा। अब OK बटन दबा दीजिए।

उपयोग करें : Start -> Settings -> Network Settings->My Network Places पर क्लिक करें। अब Entire Network पर क्लिक करें और फिर Microsoft Windows Network पर डबल क्लिक करें। अपने वर्कग्रुप के नाम पर डबल क्लिक करके देखिए, दूसरे कंप्यूटर का नाम दिखाई देगा। दूसरे कंप्यूटर के नाम पर क्लिक करके देखिए, उसमें आपका शेयर्ड फोल्डर दिखाई देगा और उसके भीतर पड़ी फाइलें भी। अब इस कंप्यूटर की फाइलें दूसरे कंप्यूटर पर access होने लगी हैं। इधर से फाइलें उधर कॉपी करके देखिए।



सिस्टम रिस्टोर करना
पहले सभी खुले हुए प्रोग्राम्स बंद कर दे ; start -> all programs -> Accessories ->system tools ->system restore ->create a restore point ->next ->restore -> point description यहाँ रिस्टोर पॉइंट का नाम टाइप करें -> create -> home -> restore my computer to an earlier time -> next -> select a restore point -> next -> next ->अब कम्प्यूटर रिस्टार्ट होने दें ->ok



विंडोस का स्टार्टिंग साउंड बदलना
start-> control panel ->sound,speech and audio devices ->change the sound scheme ->program events:start windows->Browse->यहाँ साउंड फाइल को लोकेट करके ok पे क्लिक करें ->apply 16)स्क्रीन शोर्ट लेना :- किबोर्ड पे prt sc की दबाएँ फिर पेंट या वर्ड में edit मेनू से पेस्ट पे क्लिक करें



नेटवर्क पर प्रिंटर को कनेक्ट करना
start -> control panel -> printer and other hardware -> printers and faxes ->add a printer -> next ->a network printer या a printer attached to another computer पर क्लिक करें ->next ->connect to an internet or intranet printer -> url इस फोर्मेट में टाइप करें http://printserver_name/printers/share_name/.printer इसके बाद दिए गए अनुदेशों का पालन करें



HTML वेब पेज बनाना
start -all programs- accessories -notepad
html
head titlenext/title /head
body bgcolor=red text=green
form name=myform action=http://infoscihindi.blogspot.in.myformhdr.cgi method=POST
select the subject
div align=centrebrbr
div align=centre
select name=mydropdown
option value=htmlmaths/option
option value=work@network@net/option
/select
/div
/form

h1dsfdd d fdf adf dfa /h1
a href=e:\first.html click here to go back /a
marquee direction=left behavior=alternatehello india/marquee
ol type=a

li&copy one

li&reg two

li&micro three

/ol

/
/body
/html इस फाइल को filename.html नाम से सेव करें.internet explorer - file - open -इस फाइल का एड्रेस निर्धारित करके ok पर क्लिक करें
24)Javascript उदा.
!DOCTYPE html
html
body
Click on button /
button onclick=runFunc() click /button

p id=demo/

script
function runFunc()
{
var x=;
var t=new Date().getHours();
if (t 9 )
{
x= hi ;
}
else
{
x= bye ;
}
document.getElementById(demo).innerHTML=x;
}
/script
/body
/html
इस फाइल को filename.html नाम से सेव करें.internet explorer - file - open -इस फाइल का एड्रेस निर्धारित करके ok पर क्लिक करें



ऑफ लाइन वेब यूज करना
इन्टरनेट एक्स्प्लोरर ->Favorites ->Add to Favorites ->make available offline चेकबोक्स को सेलेक्ट करें ->अब सेड्युल स्पेसिफाई करने के लिए -customize फिर आनेवाले निर्देशों का पालन करें .अब इस पेज को बिना इन्टरनेट से कनेक्ट हुए देखने के लिए -Tools ->Synchronize. अब ऑफ़लाइन काम करने के लिए-File ->work offline ->favorites लिस्ट मे से आइटम सेलेक्ट करें।नोट:-ऑनलाइन काम करने के लिए File मेनू से work offline के सामने से चेक हटा दे।



वेब पेज तेजी से प्रदर्शित हो इसके लिए ग्राफिक्स ऑफ़ करना
Internet Explorer ->Tools ->Internet Options ->Advanced मल्टिमीडिया में दिखनेवाले Show pictures ,Play Animations,play Videos या play sound चेकबोक्स का निर्धारण करें।



वेब पेज पर हिन्दी में टेक्स्ट डिस्प्ले करने के लिए
(1) ये कोड वर्डपेड में लिखें
html
head titletext in hindi on html web page /title /head
body bgcolor=red text=green
p lang=hiहे राम /p
/body
/html
(3) इस फाइल को unicode encoding में filename.html नाम से सेव करें ,
(3) अब इस फाइल को (इसके एड्रेस को ब्राउज करके ) वेब ब्राउज़र(internet explorer ) में खोले




इनेबल हिन्दी इनपुट
30)इनेबल हिन्दी इनपुट:-start-control panel-date,time,language regional options-add other language-languages-supplemental language support-install files for complex script and left-to-right language-ok विंडो सीडी/डीवीडी इन्सर्ट करें.... इंस्टाल होने के बाद रिस्टार्ट करें.
इनेबल कीबोर्ड लेआउट-star-control panel-date,time,language regional options-text service input languages-details-add-add input language:input language=hindi-ok-Apply-ok
लेंग्वेज बार शुरू करना-star-control panel-date,time,language regional options-language टेब -text services and input language-details-preferences-language bar-show the language bar on desktop
Alt +shift =भाषा बदलने के लिए.




कीबोर्ड को माउस की तरह उपयोग करना
सक्रिय करने के लिए Alt+Left shift key+Num Lock दबाए(निष्क्रिय करने के लिए इनको फिर दबाए).इसके बाद बीप सुनाई देगी -> ok. माउस के जैसा आइकॉन टाक्सबार मे यदि क्रोस्ड है तो ; Num Lock दबाए।कर्सर ऊपर -8 ,कर्सर नीचे- 2 ,बाएँ -4 ,दाएँ -6 ..लेफ्ट क्लिक -5. right क्लिक- * या - और 5.कर्सर की गति बदलना-Alt+Left shift key+Num Lockदबाए।नज़र आने वाले डाएलोग बोक्स में settings पर क्लिक करे फिर Hold down Ctrl to speed up/Shift to slow down सलेक्ट करे।अब ctrl/Shift की दबाये हुए कर्सर कीज़ 8,2 ,4 या 6 दबाएँ।


कंप्यूटर में वचरुअल मेमरी बढाना
कंट्रोल पैनल में System->advanced->performance->settings->virtual memory पर जाएं। चेंज बटन दबाकर वचरुअल मेमरी का आकार बढ़ा दें। वचरुअल मेमरी का प्रयोग रैम के पूरी तरह इस्तेमाल हो जाने पर विकल्प के रूप में किया जाता है।


हार्ड डिस्क में मौजूद डेटा को सुव्यवस्थित करने (डीफ्रैगमेंट) के लिए
My computer->Local disk->Right click->Properties->Tools->Defragment now.


windows 7 को एक्टिवेट करना
Start->सर्चबोक्स में cmd टाइप करें ;अब cmd पर राईट क्लिक करें।फिर run as Administrator पर क्लिक करें ->yes->कमांड प्रोम्प्ट पर slmgr - rearm. टाइप करके एंटर दबाएँ ->सन्देश "command completed sucessfully" आने के बाद कम्प्यूटर रिस्टार्ट करें।




बीप द्वारा कम्प्यूटर समस्याओं का पता लगाने

क्या आपके कंप्यूटर में भी अक्सर खराबी आती रहती है और आप उसकी खराबी का कारण नहीं समझ पाते? दरअसल हमारा कंप्यूटर हमें यह जानकारी देने की कोशिश करता है कि उसे हुआ क्या है। यह अलग बात है कि हम उसके संकेत समझ नहीं पाते। अगर आप कंप्यूटर द्वारा दिए जाने वाले संकेतों को समझने लगेंगे तो शायद आपको भी तब तक कंप्यूटर मेकेनिक को घर बुलाने की जरूरत नहीं पडे़गी जब तक कि उसमें आई खराबी ज्यादा बड़ी न हो।

मोटे तौर पर कंप्यूटर की समस्या को तीन भागों में बांटा जा सकता है।

- अगर कंप्यूटर स्टार्ट नहीं हो रहा है, तो हो सकता है उसमें पावर ही नहीं आ रही हो।
- अगर वह स्टार्ट होने के बाद अजीब-सी आवाज निकालकर रुक जाता है तो समस्या किसी हार्डवेयर से जुड़ी है।
- अगर वह विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम के शुरुआती ग्राफिक तक पहुंच जाता है लेकिन आगे नहीं बढ़ता तो समस्या विंडोज एक्सपी, विंडोज विस्टा, विंडोज 7 आदि ऑपरेटिंग सिस्टम की है।

इनमें से पहली समस्या होने पर आपको कंप्यूटर की पावर सप्लाई (जिसे एसएमपीएस कहा जाता है) को बदलवाने की जरूरत है। समस्या दूसरे नंबर की है तो उसका पता लगाने के लिए थोड़ा-सा विश्लेषण करने की जरूरत है। तीसरे नंबर की समस्या होने पर किसी विंडोज या फिर किसी डिवाइस ड्राइवर (हार्डवेयर को ऑपरेट करने के लिए इस्तेमाल होने वाला कोड) को दोबारा इंस्टाल करना पड़ सकता है।

कंप्यूटर्स को स्टार्ट करने के बाद शुरू में 'पावर ऑन सेल्फ टेस्ट' (पोस्ट) का प्रोसेस होता है जिसमें आपके सिस्टम के ज्यादातर हार्डवेयर्स को चेक किया जाता है। अगर कोई छोटी-मोटी समस्या है तो कंप्यूटर चल पड़ता है लेकिन किसी अहम पार्ट में दिक्कत होने पर वह पोस्ट से आगे नहीं बढ़ता।

हालांकि इसी दौरान वह किसी-न-किसी तरह की बीप की आवाज देकर खराब हार्डवेयर के बारे में संकेत दे देता है। जब-जब भी आपका कंप्यूटर खराब हुआ होगा, आपने देखा होगा कि वह स्टार्ट होते समय आम सिंगल बीप की बजाए कुछ अलग ही आवाज निकालता है। यही आवाज कंप्यूटर की समस्या को ठीक करने में मदद करती है। आईबीएम पीसी या आईबीएम कम्पैटिबल पीसी द्वारा निकाले जाने वाले सामान्य बीप कोड इस तरह हैं -

बीप कोड- कोई बीप नहीं, समस्याः
पावर नहीं है, बिजली का तार ढीला है या फिर तार शॉर्ट हो गया है। रिप्लेसमेंट खर्च - जीरो से लेकर 500 रुपये तक।
बीप कोडः एक छोटी बीप, कंप्यूटर ठीकठाक है, कोई समस्या नहीं है।
बीप कोडः दो छोटी बीप समस्याः पोस्ट के दौरान समस्या पाई गई है (हो सकता है सीएमओएस सेटिंग से जुड़ा हो) ब्यौरे के लिए कंप्यूटर स्क्रीन देखें। खर्चः जीरो।
बीप कोडः एक लंबी और एक छोटी बीप समस्याः मदरबोर्ड में कोई समस्या है। रिप्लेसमेंट खर्च : 2,000 से 6,000 रुपये के बीच, मदरबोर्ड की कीमत पर निर्भर।
बीप कोडः एक लंबी और दो छोटी बीप समस्याः सीजीए-मोनो डिस्प्ले कार्ड की समस्या है। रिप्लेसमेंट खर्चः 500 से 600 रुपये।
बीप कोडः एक लंबी और तीन छोटी बीप समस्याः ईजीए डिस्प्ले कार्ड की समस्या है। रिप्लेसमेंट खर्चः 800 रुपये या ज्यादा (कार्ड के ब्रांड और फीचर्स पर निर्भर)।
बीप कोडः तीन लंबी बीप समस्याः की-बोर्ड से जुड़ी समस्या। रिप्लेसमेंट खर्चः 300 रुपये या ज्यादा।
बीप कोडः लगातार लंबी-लंबी बीप समस्याः सीपीयू में लगी रेम ढीली है या फिर खराब हो गई है। खर्चः शून्य से लेकर 1,200 रुपये तक।
बीप कोडः लगातार तेज और हल्की बीप बजती रहे समस्याः सीपीयू बहुत गर्म हो रहा है। शायद सीपीयू को ठंडा रखने के लिए लगा पंखा खराब है या फिर सीपीयू ही बदलने की जरूरत है। रिप्लेसमेंट खर्चः 100 रुपए (पंखा) से लेकर 5,000 से 6,000 रुपये के बीच।

कंप्यूटर्स में बीप की आवाज से यही संकेत मिलते हैं कि कंप्यूटर की सामान्य समस्याओं का पता किसी विशेषज्ञ के बिना आप खुद भी लगा सकते हैं। ज्यादातर कंप्यूटर्स में इन आवाजों का यही मतलब है लेकिन बुनियादी रूप से यह बात कंप्यूटर में लगी BIOS (बेसिक इनपुट आउटपुट सिस्टम) और मदरबोर्ड के ब्रांड पर निर्भर करती हैं। कुछ ब्रांड्स में इन आवाजों के अलग मतलब हो सकते हैं जिन्हें उनके साथ आए डॉक्युमेंटेशन या फिर उनकी वेबसाइट्स पर देखा जा सकता है।




वेबसाइट का शार्टकट डेस्‍कटॉप पर बनायें


 आज मैं आपको जो जानकारी देने जा रहा हॅू वह आपके बहुत काम आयेगी, आपने अक्‍सर किसी फाइल/फोल्‍डर के shortcut को desktop पर बनाया होगा, लेकिन मैं आज आपको आपकी मनपसन्‍द वेबसाइट का shortcut आपके desktop पर बनाने का तरीका बताने जा रहा हॅू इससे आपके केवल desktop पर बने shortcut पर डबल क्लिक करके बिना ब्राउजर में साइट का नाम डाले ही उसको ओपन कर सकते हैं, यह बहुत ही सरल प्रक्रिया है,
सबसे पहले अपने desktop पर राइट क्लिक करें, New जाये  और shortcut को चुनें,



जिससे यह Shortcut Wizard ओपन हो जायेगा



अब इस  Shortcut Wizard में type the location of the item में अपनी साइट का नाम डालिये



अगर आपको नाम नहीं पता है तो अपने internet browser के address bar में लिखे हुए वेबसाइट के नाम को ctrl+c दबाकर कॉपी कर लिजिये और Shortcut Wizard में  ctrl+v दबाकर पेस्‍ट कर दीजिये। इसके बाद Next पर क्लिक कीजिये, जिससे आपके सामने यह विण्‍डो आ जायेगी



यहॉ आपको अपने Shortcut को नाम देना है, जैसे आप Google का Shortcut बना रहे हैं तो आप यहॉ  Google लिख सकते हैं, जिससे आप उस Shortcut को पहचान सकें कि यह Shortcut किस साइट का है। इसके बाद Finish पर क्लिक कर दीजिये।

तो कुछ इस तरह से आपके desktop पर Shortcut दिखाई देने लगेगा। अब बस इस  Shortcut  पर माउस के डबल क्लिक कीजिये और आपके सामने आपकी गूगल की साइट अपने आप खुल जायेगी।
आप इसके एक और चीज एड कर सकते हैं, अगर आप चाहें तो Shortcut का भी Shortcut बना सकते है यानी कीबोर्ड Shortcut, इसके लिये आपको Shortcut पर माउस से राइट क्लिक करना होगा और प्रौर्पटीज को सलेक्‍ट करना होगा



 जिससे Shortcut की प्रार्पटी विण्‍डो खुल जायेगी




अब यहॉ आपको Web Documents टैब पर क्लिक करना होगा, यहॉ आपको Shortcut key आप्‍शन मिलेगा,  इससे बाक्‍स में माउस के क्लिक करें, और कीबोर्ड से कोई भी बटन दबाये मान लिजिये मुझे गूगल के लिये ही  कीबोर्ड शार्टकट बनाना था, इसलिये मैने कीबार्ड से केवल G बटन दबाया तो यहॉ पर अपने आप Shortcut key जनरेट हो गयी , Ctrl+Alt+g यानी कीबोर्ड से Ctrl, Alt के साथ में g दबाने से भी यह साइट अपने आप खुल जायेगी।

 Change icon आप्‍शन में जाकर आप इसका आइकन भी बदल सकते हैं।




चलती मूवी से तस्वीरों को करें सुरक्षित


यह एक छोटी सी टिप है लेकिन जरूरतमंद के लिए बहुत काम की टिप है.आप विंडोज मीडिया प्लेयर पर मूवी चलाते समय मूवी से तस्वीरें सुरक्षित कर सकते हैं.आपको बस इतना करना है कि जब मूवी चल रही हो उस समय जहाँ से आपको तस्वीर लेनी हो वहां जल्दी से कीबोर्ड पर Ctrl+i यानि Ctrl और i को एक साथ दबाएँ. अब एक विंडो खुलेगी जिसमें आपको तस्वीर सेव करने को कहा जायेगा

अब तस्वीर को कोई भी नाम देकर save कर दें. इसी तरह आप चाहे जितनी तस्वीरें सुरक्षित कर सकते हैं,आपकी तस्वीरें my pictures के फोल्डर में स्टोर होंगी.



स्क्रेच सीडी को करें कॉपी
क्या आपके साथ कभी ऐसा हुआ है कि आप अपने दोस्त से या बाज़ार से अपनी फेवरेट मूवी की सीडी बड़े शौक से लेकर आये हों और अपने कंप्यूटर पर कॉपी कर रहे हों.आधी सीडी कॉपी होने के बाद या बिलकुल अंत में आपका कंप्यूटर ये error दे दे cannot copy file मतलब कि सीडी कॉपी नहीं हो सकती.तो आपको कितना गुस्सा आएगा कि जो कॉपी हुआ उससे भी हाथ धोना पड़ा.यह error सीडी पर स्क्रेच के कारण आता है भले ही मामूली स्क्रेच ही क्यों ना हो.लेकिन एक तरीका है जिससे आप पूरी सीडी तो नहीं लेकिन जितना कॉपी हुआ हो उसको बचा सकते हैं.

इसके लिए जब आप सीडी कॉपी कर रहे हों और यह error आ जाये तो की-बोर्ड से CTRL+ALT+DELETE को एक साथ दबाएँ तो टास्क मेनेजर की विंडो खुल जाएगी उसमे इस error को end task कर दें.अब जितनी सीडी कॉपी हुई है वो आपके कंप्यूटर में सुरक्षित हो जाएगी.






महत्वपूर्ण डाटा को करें सुरक्षित बिना सोफ्टवेयर के
अगर आप चाहते हैं कि आपके कंप्यूटर में आपका महत्वपूर्ण डाटा कोई दूसरा व्यक्ति देख न सके इसके लिए कुछ तरीके हैं इनसे आप कुछ हद तक अपना महत्वपूर्ण डाटा दूसरों से सुरक्षित रख सकते हैं वो भी बिना किसी सोफ्टवेयर के.

1. सबसे पहले वो तरीका जो सबसे ज्यादा काम में लिया जाता है. इसमें फोल्डर को lock नहीं लगाया जाता बल्कि छुपा दिया जाता है. जिस फ़ाइल या फोल्डर को छुपाना हो उस पर राईट क्लिक करके property में जाएँ.अब सबसे नीचे जाकर hidden को चेक कर दें,फिर apply करके ओके कर दें. अब ऊपर टूलबार में tools पर जाएँ फिर folder options पर क्लिक करें अब जो विंडो खुले उसमें view पर क्लिक करें.अब advanced setting में do not show hidden files and folders को सेलेक्ट करें और apply करके ओके कर दें.अब आपका फोल्डर अपनी जगह से गायब हो जायेगा और कोई भी उसे देख नहीं पायेगा .फोल्डर को वापस लाने कि लिए folder options की विंडो में show hidden files and folders को सेलेक्ट कर दें.

2.इसमें फ़ाइल या फोल्डर को पासवर्ड के द्वारा lock कर दिया जाता है.जिस फ़ाइल या फोल्डर को lock करना है उस पर राईट क्लिक करें फिर send to compressed (zipped) folder को क्लिक कर दें. अब उसी नाम का दूसरा जिप फोल्डर बन जायेगा उस फोल्डर को खोलें. अब ऊपर दिए गए file मेनू में जाएँ वहां से add a password को सेलेक्ट करें. अब अपनी मर्जी का पासवर्ड देकर ओके कर दें. अब कोई भी आपके डाले गए पासवर्ड के बिना फाइल या फोल्डर को खोल नहीं सकेगा.

3.यह तरीका थोड़ा कम सुरक्षित है.इसमें फोल्डर को छुपा दिया जाता है.लेकिन फोल्डर अपनी जगह से हटता नहीं है.इसमें सिर्फ नज़र को धोका दिया जाता है और आम कंप्यूटर यूजर इसको देख नहीं पाता. इसके लिए जिस फोल्डर को छुपाना हो उस पर राईट क्लिक करके rename करें अब keyboard से alt+255 टाइप करके enter कर दें अब आपका बिना नाम का फोल्डर बन जायेगा. अब इस पर राईट क्लिक करके property में जाएँ फिर customise पर क्लिक करें फिर निचे change icon पर क्लिक करें.अब आपके सामने बहुत से icon नज़र आयेंगे उसमे से खाली icon को जिस में कुछ दिखाई नहीं दे रहा हो सेलेक्ट कर दें.फिर apply करके ओके कर दें.

अब आपका फोल्डर तो वहीँ रहेगा लेकिन दूसरों को आसानी से मालुम नहीं चलेगा कि यहाँ कोई फोल्डर है. इन तीनो तरीकों में दूसरा तरीका सबसे ज्यादा सुरक्षित है.





विंडोज xp की corrupt फाइल्स रिपेयर कीजिये
हमारे कंप्यूटर में वायरस के कारण या गलत सॉफ्टवेयर डालने के कारण विंडोज xp की फाइल्स corrupt हो जाती है,फिर कंप्यूटर में कई तरह की समस्याएँ आने लगती है,कई प्रोग्राम काम करना बंद कर देते हैं,सिस्टम कई तरह के errors देने लगता है,फिर हमें नई विंडो इंस्टोल करनी पड़ती है,सभी प्रोग्राम दुबारा इंस्टोल करने पड़ते हैं.यह काम बहुत समय लेने वाला काम है और झंझट वाला भी.

लेकिन मैं आपको एक ऐसा तरीका बताता हूँ जिससे आप 10 मिनट में आपके सिस्टम की सभी corrupted फाइल्स और errors को ठीक कर सकते हैं.सबसे पहले आप start पर क्लिक कीजिये फिर run में जाइए वहां टाइप करें sfc /scannow यह ध्यान रहे कि sfc और / [स्लेश] के बीच में स्पेस है.फिर ok कर दीजिये, ok करते ही एक विंडो खुलेगी जिसमें आपको विंडोज xp की cd डालने को कहा जाएगा, cd डालते ही स्कैनिंग चालु हो जाएगी जो 5 से 10 मिनट तक चलेगी.यह आपकी सभी फाइल्स को रिपेयर करेगा और सभी errors दूर कर देगा.
स्केन फिनिश होने के बाद एक बार कंप्यूटर रिस्टार्ट कर दीजिये .





जिप और कंप्रेस्‍ड फाइल कैसे बनाएं


कैसे बनाए जिप या फिर कंप्रेस्ड फाइल सबसे पहले कंप्यूटर के स्टार्ट
मीनू को ओपेन करें और कंप्यूटर आइकॉन पर क्लिक करें।
अब जिस फाइल को जिप फाइल में चेंज करना है उसे सलेक्ट करें।
अगर एक साथ कई फोल्डर सलेक्ट करने हैं तो उसके लिए कंट्रोल की को दबाकर सभी फोल्डर सलेक्ट करें।
अब सलेक्ट किए गए फोल्डर में माउस से राइट क्लिक करें और कंप्रेस्ड जिप फाइल ऑप्शन को चुनें।
आप चाहें तो डेस्कटॉप में सेव फोल्डर को सलेक्ट कर राइट क्लिक से कोई भी फोल्ड को जिप फाइल में बदल सकते हैं।

No comments:

Post a Comment